प्रेजेन्टेशन (लिब्रेऑफिस इम्प्रैस)

परिचय

प्रेजेन्टेशन, डाटा को सुव्यवस्थित तरीके से प्रदर्शित करने का एक बहुत ही सरल माध्यम है जिसके द्वारा किसी विषय की सूचना की प्रेजेन्टेशन बनाकर प्रस्तुत कर सकते हैं| यह अनेक स्लाइडों जा समूह होते है, जहाँ हम प्रेजेन्टेशन के विषय में सम्बन्धित सूचना को टैक्स्ट, इमेज, ऑडिओ एवं वीडियो के माध्यम से प्रदर्शित करते हैं|
इम्प्रैस (Impress) लिब्रेऑफिस एक प्रेजेन्टेशन प्रोग्राम है, जिसके अन्तर्गत स्लाइडों को तैयार किया जाता है|

प्रेजेन्टेशन (लिब्रेऑफिस इम्प्रैस) के बेसिक्स (Basics of (LibreOffice Impress) Presentation)

प्रेजेन्टेशन के माध्यम से यूजर विभिन्न अवयवों से युक्त स्लाइडें बना सकता हैं, जिनमें टैक्स्ट, बुलेट, नम्बर सूचियाँ, सारणियाँ, क्लिपआर्ट तथा ग्राफिक्स ओब्जेक्ट्स की लंबी शृंखला सम्मिलित है| इम्प्रैस में स्पेलिंग चेकर (Spelling Checker), शब्दकोश (Thesaurus), टैक्स्ट स्टाइल तथा आकर्षक बैकग्राउंड स्टाइल भी सम्मिलित हैं|

इम्प्रैस के बेसिक्स (Basics of Impress)

इम्प्रैस की सहायता से हम अपनी योजना (Scheme) का प्रस्तुतीकरण प्रेजेन्टेशन के माध्यम से दे सकते हैं|

इम्प्रैस के कुछ बेसिक्स निम्न प्रकार हैं-

1. इम्प्रैस प्रेजेन्टेशन स्लाइडों के संग्रह को शामिल करता है|

2. इम्प्रैस स्लाइड्स में अन्य प्रोग्रामों द्वारा तैयार की गई सूचनाओं या डाटा; जैसे- टैक्स्ट, चार्ट, वर्कशीट, ग्राफिक्स आदि को भी शामिल किया जाता है|

3. इम्प्रैस में आप .jpg, .gif और .wav जैसी फाइलों को जोड़ सकते हैं|

4. इसका प्रयोग स्पीकर नोट्स तैयार करने के लिए भी किया जाता है|

5. इसके द्वारा विशेष प्रभाव, रंग, ध्वनि, 3D आकृतियों आदि को दर्शाया जा सकता है|

इम्प्रैस प्रेजेन्टेशन को खोलना (Opening Impress Presentation)

इम्प्रैस प्रेजेन्टेशन को खोलने के लिए निम्न स्टेप्स का प्रयोग करें

(i) Start-> All Programs-> LibreOffice 6.2-> LibreOffice Impress पर क्लिक करें|

(ii) ऐसा करते ही लिब्रेऑफिस इम्प्रैस की विण्डो प्रदर्शित होगी|

इम्प्रैस विण्डो के विभिन्न अवयव निम्नलिखित हैं-

टाइटल बार (Title Bar) यह खुली हुई विण्डो के सबसे ऊपर स्थित होता है| इसमें वर्तमान में खुले प्रेजेन्टेशन का नाम प्रदर्शित होता है| इसमें दाएँ कोने पर तीन कंट्रोल बटन Minimize, Restore तथा Close होते हैं|

स्लाइड्स पेन (Slides Pen) यह यूजर के प्रेजेन्टेशन में स्लाइडों की थम्बनेल पिक्चर रखता है तथा इसी क्रम में उन्हें दर्शाता है (जब तक स्लाइड शो का क्रम परिवर्तन करते है)| इस पेन में एक स्लाइड पर क्लिक करके, इसका चयन करते हैं तथा वर्कस्पेस में भेज देते हैं| जब एक स्लाइड वर्कस्पेस में होती है, तब यूजर इसमें इच्छानुसार किसी भी परिवर्तन के लिए आवेदन कर सकते हैं| स्लाइड्स पेन में एक-या-एक से अधिक स्लाइडों पर एक साथ बहुत से ऑपरेशन्स किए जा सकते हैं,
जो इस प्रकार हैं-

  • प्रेजेन्टेशन के लिए नई स्लाइडों को जोड़ना|
  • स्लाइड को छिपाने हेतु मार्क करना, जिससे यह प्रेजेन्टेशन के भाग के भाँति दिखाई नहीं देती|
  • यदि स्लाइड की लम्बे समय तक आवश्यकता नहीं होती हैं, तो उस स्लाइड को प्रेजेन्टेशन से डिलीट कर देना|
  • स्लाइड को पुनः नामकरण (Rename) करना|
  • वर्क एरिया (Work Area) एक एरिये में वास्तविक स्लाइड्स बनाई और एडिट की जाती हैं इस सेक्शन में आप टैक्स्ट, चित्र, शेप और मल्टीमीडिया को इन्सर्ट, डिलीट और एडिट कर सकते हैं|

स्टेट्स बार (Status Bar) यह प्रेजेन्टेशन और करंट स्लाइड के विषय में पूरी सूचना देता है, जैसे- स्लाइड नम्बर और थीम का नाम| स्लाइड नम्बर करंट स्लाइड की संख्या डिस्प्ले करता है और प्रेजेन्टेशन में उपस्थित कुल स्लाइड्स की संख्या में से इसकी संख्या बताता है, जबकि थीम नाम प्रेजेन्टेशन में एप्लाई की गई थीम के नाम को दर्शाता है|

जूम कंट्रोल (Zoom Control) इसका प्रयोग प्रेजेन्टेशन का एक बड़ा या छोटा व्यू प्राप्त करने के लिए किया जाता है| इसके लिए जूम स्लाइडर को दाएँ या बाएँ ड्रैग करते हैं| जूम इन (+) बटन पर क्लिक करके प्रेजेन्टेशन का एक बड़ा व्यू और जूम आउट (-) बटन पर क्लिक करके प्रेजेन्टेशन का एक छोटा व्यू दिखाई देता है|

मेन्यू बार (Menu Bar) यह टाइटल बार के नीचे स्थित होता है| यूजर जब किसी मेन्यू को चुनते हैं, तो उसका सब-मेन्यू अन्य विकल्पों के साथ प्रदर्शित होता है| मेन्यू बार के कुछ मुख्य विकल्प File, Edit, View, Insert, Format, Slide, Slide Show, Tools, Window, Help हैं|

टूलबार (Toolbar) मेन्यू बार के नीचे दो टूलबार्स - स्टैण्डर्ड टूलबार और फॉर्मेटिंग टूलबार होते है| इन टूलबार्स पर स्थित आइकन्स या विकल्प (Options) सामान्य कमाण्ड्स एवं फंक्शन्स की एक विस्तृत श्रेणी प्रदान करते हैं| टूलबार्स को मेन्यू बार पर View-> Toolbars क्लिक करके प्रदर्शित या छिपाया जा सकता है|

साइडबार (Sidebar) यह प्रेजेन्टेशन विण्डो के दाईं ओर स्थित होता है| यदि यह दाईं ओर प्रदर्शित नहीं हैं, तो View-> Sidebar पर क्लिक करके प्रदर्शित किया जा सकता है| इसमें सात डैक शामिल हैं; जैसे- Properties, Slide Transition, Animation, Master Slides, Styles, Gallery तथा Navigator प्रत्येक डैक का संबन्धित आइकन होता है, जिससे आप उनके मध्य स्विच कर सकते हैं|

इम्प्रैस का प्रयोग करना (Using Impress)

स्लाइड (Slide) प्रेजेन्टेशन के प्रत्येक पृष्ठ को स्लाइड कहा जाता है, प्रत्येक स्लाइड किसी विशेष बात को प्रदर्शित करने के लिए बनाई जाती है|

वक्ता के नोट (Speaker's Note) ये ऐसी सूचनाएँ हैं, जो वक्ता को प्रेजेन्टेशन बनाने के समय कुछ बातें याद दिलाने के लिए दी जाती हैं| ये सामान्यतया पेज पर छापे हुए साधारण वाक्य या सूचनाएँ होती हैं| प्रेजेन्टेशन के समय ये बातें स्लाइडों पर दिखाई नहीं देती|
प्रेजेन्टेशन की इन फाइलों के नाम का विस्तार भाग सामान्यतः .odp होता है; जैसे- PROJ1.odp प्रत्येक प्रेजेन्टेशन की सभी जानकारियाँ, वक्ता के नोट्स तथा ध्वनि आदि के प्रभाव, यदि यूजर ने शामिल किए हो, तो उन्हें एक फाइल में रखा जाता है जिससे उन्हें कॉपी करना और प्रयोग करना सरल हो जाए|

मास्टर स्लाइड (Master Slide) यह ऐसी स्लाइड होती है जिसमें ऐसी सूचनाएँ (Information) या कण्टेण्ट होते हैं, जो प्रेजेन्टेशन की प्रत्येक स्लाइड में शामिल किए जाते हैं| उदाहरण के लिए, कम्पनी का नाम, लोगो (Logo), प्रेजेन्टेशन की तिथि आदि प्रत्येक स्लाइड पर दिखाई दे, यह कार्य मास्टर स्लाइड द्वारा किया जाता है|

थीम (Theme) प्रेजेन्टेशन की Color scheme थीम कहलाती है| यह बैकग्राउण्ड के रंग या पिक्चर, टाइटल के रंग इत्यादि को शामिल करता है| थीम प्रेजेन्टेशन को स्टाइल प्रदान करती है|

स्लाइड लेआउट (Slide Layout) प्रेजेन्टेशन में स्लाइड तैयार करने की आउटलाइन को उसका लेआउट कहते हैं| इम्प्रैस में कई लेआउट उपलब्ध हैं, इनमें से किसी एक को सिलेक्ट कर सकते हैं और फिर उसे उपयोग या आवश्यकतानुसार परिवर्तित कर सकते हैं|

स्लाइड ट्रांजीशन (Slide Transition) प्रेजेन्टेशन के समय, वर्तमान स्लाइड के स्थान पर अन्य स्लाइड प्रदर्शित होना, स्लाइड ट्रांजीशन कहलाता है| वह स्लाइड कई तरह से और कई दिशाओं से प्रकट हो सकती है|

एनीमेशन प्रभाव (Animation Effects) स्लाइड शो के समय स्लाइड के विभिन्न तत्वों का स्टाइल तथा साउण्ड के साथ प्रकट होना एनीमेशन प्रभाव कहलाता है| ऐसे प्रभाव डालने से प्रेजेन्टेशन अधिक प्रभावशाली बन जाती है| Next

1 2 3 4 5 6